भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

जापी

पुं.

जापक, जप करनेवाला।
Discription with Examples: माधौ जू, मोते और न पापी। लंपट, धूत, पूत दमरी कौ, बिषय – जाप कौ जापी – १ – १४०।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. जापिन]

जापू

पुं.

जप, जाप।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. जाप]

जाफ

पुं.

मूर्छा, बेहोशी।
Category: संज्ञा
Etamology: [अ.ज़ोफ़, ज़ाफ]

जाफत

स्त्री.

भोज, दावत।
Category: संज्ञा
Etamology: [अ.ज़ियाफत]

जाफरान

पुं.

केसर।
Category: संज्ञा
Etamology: [अ. ज़ाफ़रान]

जाफरानी

पुं.

केसर के रंग का।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. जाफरान]

जाब

जाना, गमन करना।
Discription with Examples: इन नैननि के नीर सखी री सेज भई घरनाव। चाहत हौं ताही पै चढिकै हरि जी के ढिग जाब – २७९८।
Category: क्रि. अ.
Etamology: [हिं. जाना]

जाबजा

जगह-जगह, इधर-उधर।
Category: क्रि. वि.
Etamology: [फ़ा.]

जाबर

बुड्ढा, वृद्ध।
Category: वि.
Etamology: [सं. जर्जर]

जाबाल

पुं.

एक मुनि जिनकी माता का नाम जबला था। सत्यकाम नाम से भी इन्हें पुकारा जाता है।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

जाबालि

पुं.

एक ऋषि जो राजा दशरथ के गुरु और मंत्री थे। इन्होंने चित्रकूट-सभा में राम को घर लौटने के लिए समझाया था।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

जाबिर

जबरदस्त, अत्याचारी।
Category: वि.
Etamology: [फ़ा.]

जाब्ता

पुं.

नियम, कानून।
Category: संज्ञा
Etamology: [अ.ज़ाब्ता]

जाम

पुं.

पहर, प्रहर, तीन घंटे का समय।
Discription with Examples: रघुनाथ पियारे, आजु रहो (हौ)। चारि जाम बिस्राम हमारैं, छिन – छिन मीठे बचन कह्यौ (हो) – ९ – ३३।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. याम]

जाम

पुं.

प्याला।
Category: संज्ञा
Etamology: [फ़ा.]

जाम

पुं.

कटोरा।
Category: संज्ञा
Etamology: [फ़ा.]

जाम

पुं.

जामुन का फल।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. जंबू]

जामगी

पुं.

तोप को पलीता।
Category: संज्ञा
Etamology: [लश.]

जामत

उगता है।
Category: क्रि. स.
Etamology: [हिं. जमना]

जामत

उत्पन्न होता है।
Discription with Examples: विरह दुख जहाँ नाहिं जामत नहीं उपजै प्रेम – २९०९।
Category: क्रि. स.
Etamology: [हिं. जमना]

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App