भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Zoology (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Horn

सींग, श्रृंग
खुरदार स्तनियों के सिर से निकलने वाली नोकीली कठोर संरचनाएँ, जिनका उपयोग प्राणी प्रायः अपनी सुरक्षा के लिए करता है।

Host crossover

परपोषी विशिष्टता
कीट जाति का खाद्य, आश्रय या अंडनिक्षेपण की खोज में पहले परपोषी को छोड़कर किसी अन्य परपोषी पर चले जाना।

Host specificity

परपोषी विशिष्टता
यह जाति विशेष का पोषणज विशिष्टीकरण है और प्रकृति में बहुत जटिल प्रक्रम है, विशेष तौर पर परजीवियों, परजीव्याभों में और कुछ एकाहारी कीटों में जो खरपतवारों के जैविक नियंत्रण में उपयोगी हैं। यह जीवन-क्रियाओं की पूर्ण आवश्यकताओं की सफलतापूर्वक प्राप्ति है जिसकी इति अशन, जीवन-वृत्त पूरा करने और जनन के ले उपयुक्त परपोषी तक पहुंचने में है जो जाति विशेष की संतति को बढ़ाने के लिए भी उपयुक्त हो। रक्त-चूषक कीटों में जूं और पिस्सू परपोषी विशिष्ट हैं। कृषि-कीटों में बैंगन का वेधक, पिंक बोल वर्म और बीज-भक्षी शूट फ्लाई इसके विशिष्ट उदाहरण हैं। (सीड फ्लाई) ओफियोमिया लेन्टानी लेन्टाना खरपतवार विशिष्ट है और शल्क कीट डेक्टीपोलस इन्डिकस नागफनी खतपतवार विशिष्ट है।

Host

परपोषी
वह जीव जो अन्य जीव को खाद्य तथा आश्रय प्रदान करता है लेकिन स्वयं उस जीव से लाभ प्राप्त नहीं करता। उदा. टमाटर का पौधा जड़गाँठ सूत्रकृमि का परपोषी है।

Housefly

गृहमक्षी, घरेलू मक्खी
घरों में पाया जाने वाला डिप्टेरा गण का कीट, जिसमे दो पंख और स्पंजी मुखांग होते है। यह कीट टाइफायड, हैजा आदि कई रोगों का वाहक है।

Humerus

प्रगंडिका, ह्यूमेरस
चतुष्पाद कशेरुकियों में अग्रपाद की निकटस्थ सबसे लंबी हड्डी, जो एक तरफ अंसखात (ग्लीनाइड फोसा) से और दूसरी तरफ बहीःप्रकोष्ठिका (रेडियस) तथा अंतःप्रकोष्ठिका (अल्ना) से जुड़ी रहती है।

Humivore

ह्यूमस भक्षी
वह जीव जो ह्यूमस को खाता है।

Humoral antibody

तरल प्रतिरक्षी
शरीर के तरलों अर्थात प्लैज्मा, लसीका और ऊतकीय तरलों में उपस्थित प्रतिरक्षी।

Humoral immunity

तरल प्रतिरक्षा
जीव की रोधक्षमता, जो रक्त में प्रतिजन के प्रवेश से बने प्रतिरक्षीयों के रक्तधार में प्रवाहित होने से अथवा सीरम के माध्यम से स्थानांतरित हो सकने वाली हो।

Hyaline cartilage

काचाभ उपास्थि
कुछ-कुछ नीली-सफेद और पारभासी उपास्थि, जो उपास्थ्यणु (chondrocyte) और अंतराकोशिक पदार्थों से बनती है और सभी कशेरुकियों के भ्रूणों तथा वयस्क शार्कों और रे मछलियों में पाई जाती हैं।

Hybrid dna

संकर डी.एन.ए.
डी.एन.ए. अणु संकर जिसके एक रज्जुक के स्थान पर एक आर.एन.ए. रज्जुक आ जाता है।

Hybrid sterility

संकर बंध्यता
संकरण द्वारा प्रेरित बंध्यता जिसके कारण संकर,जीवनक्षम-संतान उत्पन्न नहीं करते। संकर-बंध्यता का आधार जीनी, गुणसूत्री अथवा कोशिकाद्रव्यी हो सकता है ।

Hybrid vigour

संकर ओज
संकर का अपने जनकों से श्रेष्ठ होना।

Hybrid

संकर
आनुवंशिक असमान-जीव प्ररुपों के संकरण से प्राप्त उत्पाद।

Hybridization

संकरण
दो असमान जनकों के संकर बनाने या होने की प्रक्रिया।

Hydra

हाइड्रा
सीलेन्टेरेटा संघ और हाइड्रोज़ोआ वर्ग के अलवणजलीय प्राणी, जो लकड़ियों, पत्थरों, पत्तियों आदि पर चिपके रहते हैं। इनके शरीर में एक गुहा होती है जो स्पर्शिकाओं से घिरे मुँह द्वारा ऊपर की ओर खुलती है।

Hydrolysis

जल-अपघटन
वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमें जल अन्य पदार्थ से क्रिया करके दो या दो से अधिक नए पदार्थ बनाता है। इसमें जल के अणु के आयनीकरण से क्रियाधार पदार्थ टूटता है।

Hydrozoa

हाइड्रोज़ोआ
ऐसे सीलेन्टेरेट प्राणियों का वर्ग, जिनमें अलैंगिक पीढ़ी अचल पॉलिप के रुप में और लैंगिक पीढ़ी मुक्तप्लावी मेड्यूसा के रुप में पाई जाती है। किंतु हाइड्रा जैसे कुछेक प्राणियों में मेड्यूसा अवस्था नहीं पाई जाती है और पॉलिप अवस्था में ही जनद(गोनड) बनते हैं। सरल जठरांत्र (सीलेन्टेरोन), बाह्यचर्मीय जनद और प्रायः निवही व्यवस्था इनके अन्य लक्षण हैं।

Hymenoptera

हाइमेनोप्टेरा इस गण के कीटों मे दो जोड़ी झिल्लीमय पंख, शिराविन्यास प्राय: लघुकृत; अग्र-पंखो की अपेक्षा पश्चपंख छोटे ओर अकुंशिकाओ (hooklets) द्वारा अग्रपंखो से अंत:बंद्ध (interlocked) होते है। मुखांग मुख्यत: आदंश और कभी-कभी लेहन (lapping) और चूषण के लिए भी अनुकूलित; उदर सामान्यत: आधारी रूप से संकीर्णीत (constricted) और इसका पहला खंड पश्चवक्ष से संयुक्त होता है। अंडनिरपेक्ष हमेशा होता है और क्रकचन (sawing), वेधन या दंशन(stinging) के लिये प्रयुक्त होता है; डिंभक आमतौर पर अपादी और लगभग सुपरिवर्धित सिर वाला; कोशित अबद्ध और समान्यतया कोया भी होता है । उदा. चींटी, मक्षिका,बर्र आदि ।

Hyoid apparatus

कंठिका उपकरण अधिकांश कशेरुकियो मे जीभ ओर उससे संबंधित पेशियो को सहारा देने वाली अस्थि या उपास्थि जो भ्रूण के दूसरे या तीसरे अंतरंग चाप से परिवर्धित होती है ।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App